Wednesday, 28 August 2013

एक बार फिर आ जाओ कृष्ण।




पांच हजार  साल बीत गए अब  
झड गए फूलों जैसे लाखों दिन ,
फिर भी मानकर ज्यों कल की बात 
तुम्हें पूजते हैं भक्त निश-दिन। 

कैसा मंत्र दिया जग को कन्हाई  
ज्ञान ,कर्म ,निष्काम योग का
आजतक समझ न पाए कोई 
गूढ़ ,अतिगुढ़  अर्थ उसका।

भक्त जन तो रम जाते तुम में 
जपते जपते राधे कृष्ण,राधे कृष्ण
हे अवतारी ! भक्तों का मान रखने 
एक बार फिर आ जाओ कृष्ण!

कलियुग में हो गया धर्म का नाश है
चहुँ ओर है अधर्म का बोल बाला
राम राम, कृष्ण कृष्ण जबान पर है 
मन में जपते ढ़ोंगी, धन की माला।

विश्व के धर्म के रक्षक के भेष में 
धर्म को डसते हैं छुपकर महाकृष्ण 
पुन: धर्म  संस्थापनार्थाय 
एक बार फिर आ जाओ कृष्ण!

अत्याचारी, भ्रष्टाचारी है  शासक
प्रजा पीड़ित हैं इन दो मुहें नागों से 
द्वापर का दुर्योधन,शकुनि कुछ भी नहीं
उलझकर देखो कलि के मामा-भांजों से।

राज दरवार भरा पड़ा है 
शकुनि,दुर्योधन,दू:शासनों से
त्रस्त  हैं भारत की हर नारी 
बलात्कार और चीर-हरण से।

 त्राहि त्राहि हम पुकारे तुम्हे सदा
 सुनो पुकार  हमारी  हे कृष्ण!
विनाशाय च दुष्कृताम, कलि में 
एक बार फिर आ जाओ कृष्ण! 



बाल कृष्ण आप सबके मनोकामना पूर्ण करे !

शुभ जन्माष्टमी की मंगल कामनाएँ 
 शब्दार्थ : महाकृष्ण=काला,जहरीला नाग 

कालीपद "प्रसाद "


©सर्वाधिकार सुरक्षित 
 




  
 

37 comments:

  1. कृष्ण जन्माष्टमी पर शुभकामनाऎं !
    सुंदर रचना !

    ReplyDelete
  2. Sri Krishna Janmashtami ki hardik shubhkamnayein Kalipad ji

    ReplyDelete
  3. मंगलकामनाएं!

    सुन्दर प्रस्तुति!

    ReplyDelete
  4. सच में अब तो कृष्ण को आना ही होगा

    ReplyDelete
  5. ज्ञान ,कर्म और योग का मंत्र देने तो आना ही होगा ,बेहद सुन्दर रचना

    ReplyDelete
  6. आवश्यक है, आ भी जाओ,
    कृष्णनीति की झलक दिखाओ।

    ReplyDelete
  7. दही हांडी की हार्दिक शुभकामनायें

    ReplyDelete
  8. आदरणीय सर, बेहद सुन्दर और सार्थक रचना।
    सब कुछ समाहित कर दिया आपने इस काव्य में,
    बहुत ख़ूब

    श्रीकृष्ण जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर
    आपको सपरिवार हार्दिक बधाई एवं शुभ कामनाएं....
    सादर

    ReplyDelete
  9. आज की महती आवश्यकता है.

    जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं.

    रामराम

    ReplyDelete
  10. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें,सादर !!

    ReplyDelete
  11. बेहतरीन रचना हे कृष्ण हे राघव हे माधव

    ReplyDelete
  12. जन्माष्टमी की हार्दिक बधाइयाँ,,,
    बहुत सुंदर रचना,,,

    RECENT POST : पाँच( दोहे )

    ReplyDelete
  13. आज जन्माष्टमी का पावन पर्व है, भगवान श्री कृष्णा के जन्म पर लोग इस त्यौहार को बड़े धूम-धाम से मनाते हैं, कान्हा अबके जन्म दिन पर 5239 साल के हो जाएंगे. कन्हाई के जन्मोत्सव को लेकर माहौल में उल्लास छाने लगा है. आप सभी को कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएं. .Sugana Foundation-Meghlasiya

    ReplyDelete
  14. सच में ...कृष्ण एक बार फिर से आ जायो

    ReplyDelete
  15. वाह कालीपद प्रसाद जी। कितना सुन्‍दर सम्‍बोधन गीत है कृष्‍ण के लिए कलिकाल की विसंगतियों को दूर करने हेतु। बहुत ही सामयिक, सुन्‍दर गीत।

    ReplyDelete
  16. आज जन जन कृष्ण को पुकार रहा है .... बहुत सुंदर रचना ।

    ReplyDelete
  17. बहुत ही भावमय प्रस्तुति और मेरे तरफ से जन्माष्टमी की बहुत बहुत बधाई !!

    ReplyDelete
  18. कृष्ण तो हर साल आते हैं .. पर उनका दर्शन आज कोई नहीं कर पाता ... सब माया के फेर में रहते हैं ...

    ReplyDelete
  19. कृष्ण मय बड़ी सुंदर रचना , आपको हार्दिक बधाई ।

    ReplyDelete
  20. बहुत सुंदर रचना ! जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  21. कृष्ण जन्माष्टमी की बहुत बहुत शुभकामनायें

    हिंदी ब्लॉग समूह चर्चा-अंकः8

    ReplyDelete
  22. अब भी न आये तो कब आएंगे कृष्ण

    ReplyDelete
  23. बहुत ही बेहतरीन रचना....
    कृष्णा जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ....
    :-)

    ReplyDelete
  24. कृष्ण जन्माष्टमी की शुभकामनाओं के साथ आपनें सुन्दर प्रस्तुति दी है !!
    सादर आभार !!
    राम राम !!

    ReplyDelete
  25. sundar pukar....janamshtami ki dhero shubhkamnayein

    ReplyDelete
  26. बढ़िया है-
    सादर नमन
    जन्माष्टमी की शुभकामनायें आदरणीय-

    ReplyDelete
  27. कृष्ण तो हमसब के अन्दर हैं बस उनके जागने की देरी है
    बहुत सुन्दर !

    श्री कृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक बधाई व शुभकामनाएँ !!
    सादर !

    ReplyDelete
  28. प्रिय कालीपद जी जय श्री राधे .

    प्रिय कालीपद जी जय श्री राधे .
    बहुत सुन्दर प्रार्थना ...प्रभु भक्तों की टेर जल्द सुनें तो आनंद और आये .....प्यारी रचना
    दु:शासन जल्द खत्म हो
    हरे राम हरे कृष्ण
    भ्रमर ५


    भ्रमर ५

    ReplyDelete
  29. sacche dil ki pukar jarur sunege bhawan krishn ....aamin ..

    ReplyDelete
  30. सुंदर प्रार्थना..बधाई!

    ReplyDelete
  31. सुंदर प्रस्तुति...कृष्णजन्माष्टमी की बधाई।।।

    ReplyDelete
  32. वाह अनुपम भाव संयोजन सच आज बहुत जरूरत है एक बार फिर कृष्ण की आपकी मनोकामना पूर्ण हो और एक बार फिर आजाए कृष्ण बस यही दुआ है हमारी...

    ReplyDelete
  33. अद्भुत....बहुत सुन्दर !

    ReplyDelete
  34. वाह बहुत सुन्दर रचना ..

    ReplyDelete
  35. 87913- 50257 --------MY MOB NO SR / NC POST SR

    ReplyDelete
  36. vartman drishy ka sundar rekha chitr avm vyvastha pr teekha prhar .....sundar aur prabhavshali rachana ke liye sadar aabhar sir ji .

    ReplyDelete